Now Playing :

बोल्ड और इंटीमेट सीन करने में असहज महसूस करती हूं: अमृता राव | बॉलीवुड सेलिब्रिटी इंटरव्यूज

बोल्ड और इंटीमेट सीन करने में असहज महसूस करती हूं: अमृता राव

By - टीम रेडियो सिटी

JANUARY 28,2019

अमृता राव, ठाकरे, नवाजुद्दीन सिद्धीकी
बॉलीवुड एक्ट्रेस अमृता राव एक बार फिर अपने फैन्स के बीच आई हैं। अमृता राव ने करीब 6 साल बाद फिल्म ‘ठाकरे’ से बड़े पर्दे पर वापसी की है। इस फिल्म में अमृता राव बाल ठाकरे की पत्नी मीना ताई ठाकरे का रोल निभाती नज़र आ रही है, जबकि शिवसेना प्रमुख बाला साहेब ठाकरे के किरदार में नवाज्जुद्दीन सिद्धीकी नज़र आएंगे। लंबे समय तक फिल्मों से दूर रही अमृता राव के लिए फिल्म ‘ठाकरे’ से बॉलीवुड में वापसी करना बहुत बड़ा कदम है। हालांकि अमृता राव बचपन से ही अभिनय क्षेत्र से जुड़ी थी और काफी वक्त फिल्म इंडस्ट्री में बिता चुकी हैं, फिर आखिर ऐसी क्या वजह रही जो लंबे समय तक वे फिल्मों से दूर रही, जब रेडियो सिटी ने एक इंटरव्यू के दौरान उनसे इस बारे में बात कि तो उन्होंने असली वजह बताते हुए कहा कि `कई फिल्मों में बोल्ड और इंटीमेट सीन करने पड़ते है जिन्हें करने में वे खुद को असहज महसूस करती और यही वजह है कि जिसके कारण वे लंबे समय से अभिनय से दूर रही।`

अमृता राव ने कहा कि "मैंने हमेशा अपने कम्फर्ट जोन को ज्यादा महत्त्व दिया है। और अभी जमाना बदल रहा है। और बदलते जमाने के साथ हीरोइन्स से जो ऑन-स्क्रीन एक्स्पेक्टेशन है वो भी बदल रही है। तो मैं पर्सनली कुछ सीन्स करने के लिए कम्फर्टेबल नहीं हूं, हालांकि एक दर्शक के रुप में देखने में मुझे कोई समस्या नहीं है। जैसे किसिंग सीन्स होते है, सीक्रेट सीन्स होते है जो मैं करने में असहज महसूस करती हूं। पर हां, मुझे फिल्मों में निगेटिव रोल निभाना पसंद है जो मेरी इमेज को, अलग-अलग पहलुओं को दिखाए और मुझे लगता है कि निर्देशक भी ऐसा सोचें। निर्देशकों का काम है कि आपको अलग-अलग रुप में देखना और अगर वहीं आपको टाइपकास्ट करने लगे तो ये मुझे बेवकूफी लगती है। अगर किसी किरदार के लिए स्मोक करना है, गाली-गलोच करनी है तो मैं इसकी ट्रेनिंग नवाज जी से लूंगी। मुझे कोई ऐतराज नहीं है पर हां किसिंग सीन्स करना आदि मेरे जोन में नहीं है और मैं ये चीजे करने में कम्फर्टेबल भी महसूस नहीं करती।"

अमृता राव के लिए बाल ठाकरे की पत्नी मीना ठाकरे का रोल निभाना किसी चुनौति से कम नहीं था। मीना ठाकरे के रोल और इस फिल्म के बारे में बात करते हुए अमृता ने कहा कि "यह फिल्म करने के पीछे सबसे बड़ा कारण ये था कि ये रोल खुद-ब-खुद चलकर मेरे पास आया, जबकि मुझे पता भी नहीं था कि बाला साहेब के ऊपर कोई फिल्म बन रही है। और जब मेरे निर्देशक, प्रोड्यूसर और कास्टिंग डिरेक्टर आए तो उन्होंने मुझे फिल्म की पूरी स्टोरी बताई और मेरे कुछ कहने से पहले ही मुझे इस रोल के लिए फाइनल कर लिया। मैं रेट्रो फैन हूं और मुझे नूतन जी, मधुबाला जी को देखना बेहद पसंद है। और जब मुझे सिनेमा में अपने आप को ब्लैक एंड व्हाइट पर्दे पर देखने को मिल रहा है तो ये मेरे लिए किसी बड़े सपने से कम नहीं था। रेट्रो गेटअप में होने के अलावा और एक ऐसे कौरेटर को सामने लाना जिसके बारे में आपको कोई आइडिया नहीं पर वो एक लीविंग करैक्टर था। मीना ताई का कोई भी एक सिंगल वीडियो इंटरव्यू नहीं था और ना ही उनके घर में भी कोई पर्सनल वीडियो एल्बम था। और ऐसा होते हुए, बिना किसी रेफरेंस प्वॉइंट के एक जीवित दमदार किरदार निभाना मेरे लिए एक चैलेंज था और वह मैंने पूरा किया। साथ ही हम एक ही समय पर हिंदी और मराठी फिल्म के लिए शूट भी कर रहे थे।"

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK