Now Playing :

अक्षय कुमार ने किया था मैगनेट का आविष्कार, कैसे? जानें ये दिलचस्प किस्सा | बॉलीवुड सेलिब्रिटी इंटरव्यूज

अक्षय कुमार ने किया था मैगनेट का आविष्कार, कैसे? जानें ये दिलचस्प किस्सा

By - टीम रेडियो सिटी - अनुप्रिया वर्मा

AUGUST 05,2019

अक्षय कुमार, मिशन मंगल
अक्षय कुमार स्पष्ट कहते हैं कि वह साल में चार फिल्में करेंगे। अनुशासन से काम करें तो हर कलाकार के लिए यह मुमकिन है। चार फिल्मों में काम करने के बावजूद वह अपने परिवार को भी पूरा वक्त दे देते हैं। पिछले कुछ सालों से वह रियलिस्टिक विषयों के कर्णधार बन गये हैं। इस बार वह मिशन मंगल लेकर आये हैं। पेश है उनसे हुई बातचीत के मुख्य अंश
 
मिशन मंगल है दिल के करीब
अक्षय का कहना है कि यह विषय उनके दिल के करीब है। खास वजह यह है कि  हम अपने टेक्सट बुक पर गौर करें तो, हमेशा पुरुषों वाली कहानियां पढ़ते हैं। महिलाओं के बारे में कम लिखा गया है। जबकि वह क्या नहीं कर सकती हैं। इस मिशन को ही देख लीजिए। इसमें  महिलाओं ने होम साइंस को साइंस में अप्लाई करके सफलता हासिल की। पुरियां तलने की तकनीक इस्तेमाल की गयी थीं। स्लिंग शॉट थ्योरी जैसी चीजों का इस्तेमाल किया है।  फिर हमें जो छोटा सा बजट मिला था, उसमें हमने यह मिशन पूरा किया था। बाकी की दुनिया ने छह हजार करोड़ में किया था। हमने सिर्फ साढ़े चार करोड़ में कर दिया था। इन चीजों ने मुझे इंस्पायर किया।  

हमें ऐसी कहानियां तो कहनी ही चाहिए। हम इस फिल्म से यह भी जताना चाहते हैं कि इंडियन साइंटिस्ट बेस्ट साइंटिस्ट हैं दुनिया में, उनका दिमाग बहुत तेज है और सुपिरियर है। हमने कई बार साबित किया है। नासा में लगभग 27 से 30 प्रतिशत भारतीय हैं, जो वहां काम करते हैं। मुझे खुशी है कि यह स्टोरी मेरे पास आयी है। मुझे खुशी है कि मैंने यह फिल्म सिर्फ 32 दिनों में शूट की है। इससे ज्यादा की इसमें जरूरत ही नहीं पड़ी है और सभी ने काफी सपोर्ट किया।

महिला प्रधान फिल्में क्यों कहते हैं
अक्षय का मानना है कि यह कहीं से भी सही नहीं कि हम महिलाओं की फिल्मों को महिला प्रधान फिल्में या किसी फिल्म का नाम दें। पुरुषों की फिल्मों को तो पुरुष सेंट्रिक नहीं कहते। फिर महिलाओं की फिल्म को क्यों कहते हैं। मेरा तो मानना है कि मैं अच्छी फिल्मों में छोटी भूमिका निभा कर भी खुश रहूंगा। मैं कई सारी हीरोइनों वाली फिल्म करूंगा। मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है। मैं ग्रेट फिल्मों पर यकीन करता हूं। मैं ग्रेट फिल्म में छोटे रोल करने में भी कोई परहेज नहीं है। मुझे सुनते हुए जब लगता है कि कहानी बेहतरीन है वह मैं करना चाहता हूं।

अब बॉलीवुड में दो सुपस्टार वाली फिल्में नहीं
अक्षय का कहना है कि वह तो मल्टी स्टारर फिल्में खूब करते हैं। लेकिन बाकी लोग नहीं करना चाहते हैं। इसकी वजह वह नहीं जानते। वह कहते हंै कि  मुझे इसमें कोई हर्ज नहीं है और मैं तो वैसी फिल्में करता हूं। हाउसफुल में कितने सारे लोग हैं। मैं नाम नहीं लेना चाहूंगा, लेकिन एक एक्टर है, जो कि दो हीरो वाली फिल्म कर रहा था। उसने जाकर प्रोडयूसर को बोला कि पहले उसका पोस्टर आना चाहिए, बाद में किसी और का। ताकि लगे कि वहीं फिल्म का मुख्य कलाकार है। मुझे सुन कर ताज्जुब हुआ था। मेरी फिल्म सूर्यवंशी में सारे बड़े कलाकारों का कैमियो है। मैंने पहले ऐसी फिल्में की हैं। लेकिन अब पता नहीं लोग क्यों नहीं करना चाहते। शायद इनसेक्योरिटी है। बजट की बात नहीं है। पहले बजट मैटर नहीं करते थे क्या? यह सब हमारे मन की बात है। हम इनसेक्योर ज्यादा हो गये हैं।

फोर्ब्स में न शामिल होने से खुश हूं
अक्षय का कहना है कि अब वह अधिक जिम्मेदार हो जायेंगे। 
वह कहते हैं मैं खुश हूं और गौरवान्वित हूं। साथ ही मैं पैसे को समझदारी से खर्च करने में यकीन रखता हूं और समझदारी से ही खर्च करूंगा। मैं अच्छी फिल्में करूंगा और पैसे बनाऊंगा।

जब फिल्में होती थीं फ्लॉप
अक्षय कहते हैं कि उन्होंने वह दौर भी देखा कि जब उनकी फिल्में फ्लॉप होती थीं तो लोग उन्हें कहते थे, कि करियर फिनिश। अक्षय का कहना है कि एक वह भी दौर मैंने देखा है, कि जब मेरी एक साथ 11 से अधिक फिल्में फ्लॉप हुई थीं। लोगों ने लिखना शुरू कर दिया था कि गया-गया। फिर फिल्में हिट होने लगी तो बोलने लगे। आ गया-आ गया। तो यह सब मैंने देखा है। इसलिए मैं हवा में उड़ने की कोशिश तो बिल्कुल नहीं करने वाला हूं। 

मिल्कमैन को लेकर सच्चाई
मिल्क मैन को लेकर खबरें थीं कि अक्षय लीड करने जा रहे हैं, लेकिन अक्षय ने इस बात से साफ इनकार कर दिया है। उन्होंने कहा कि फिलहाल उनके पास कोई स्क्रिप्ट नहीं आयी है। न ही इस खबर में कोई सच्चाई नहीं है। 

फिल्म के लिए होमवर्क
अक्षय ने बताया है कि  इस फिल्म के होमवर्क के लिए मेरे निर्देशक की बहन जो कि साइंसटिस्ट हैं। हम उनसे मिले हैं। उन्होंने काफी कुछ बताया है। हमने कोशिश की है, बड़े साधारण भाषा में समझाने की कोशिश की है। फिल्म को लेकर कोशिश है कि हमने इस फिल्म को बोर नहीं बनाने की कोशिश की है। यह मनोरंजक फिल्म होगी। मैंने इस फिल्म को हर किसी के लिए बनाया है। हम इस फिल्म से बच्चों को ज्यादा फोकस कर रहे हैं। मेरा मानना है कि साइंटिस्ट एक बेहतरीन प्रोफेशन है, जितना मैं जानने लगा हूं इस प्रोफेशन के बारे में।

जब मैगनेट का कर दिया था आविष्कार
अक्षय ने एक दिलचस्प किस्सा सुनाते हुए कहा कि  बचपन की एक बात है, जो मुझे याद है कि मेरे पापा ने मुझे एक ट्रांजिस्टर 175 रुपये का लाकर दिया था। काफी क्रेज था उसका। उस पर गाने आते थे और हम खूब सुना करते थे। मैं कान में लगा कर घूमा करता था। एक दिन मैंने अपने पिताजी को बोला कि देखो डैडी मैंने ये क्या ढूंढ़ा। मैंने  जोर से फेंका, तो अलमारी पर लगा। वह लोहे का था। वह जाकर चिपक गया है। तो पापा ने कहा कि ये तो मैगनेट है। ये कहां से आया। मैंने कहा मैंने डिस्कवर किया है। उन्होंने कहा कि  मैंने ट्रांजिस्टर से निकाला। तो पापा ने कहा कि तूने इसे तोड़ क्यों दिया। वह दुखी हुए कि मैंने तोड़ दिया था। मैं चौथी और पांचवीं में होंगे। 

साउथ फिल्मों से खास लगाव
अक्षय कहते हैं कि उनका साउथ की फिल्मों के लगाव के पीछे खास कारण नहीं है। वह कहते हैं कि मुझे लगता है कि अच्छी फिल्में लगती हैं तो कर लेता हूं। कहानियां सुनते हुए लगता है कि फिल्म कर लेनी चाहिए। तो हां कहता हूं। ऐसा कुछ नहीं है कि यह सोच कर करता कि साउथ फिल्मों के हिंदी रीमेक करके कोई ऐसा रिकॉर्ड बनाना है। वह आगे यह भी कहते हैं कि ऐसा नहीं है हिंदी में अच्छा काम नहीं हो रहा है। हमें आदत होती है अपनी चीजों की कमी निकालने की। बाकियों की तारीफ करने की। हमारी भी अच्छी फिल्में उधर जाकर रीमेक होती हैं। हमारा हिंदी सिनेमा बहुत अच्छा काम कर रहा है और मुझे उस पर गर्व है।

आने वाली फिल्में 
अक्षय की आनेवाली फिल्में हैं, सूर्यवंशी, बच्चन पांडे और हाउसफुल 4 जल्द ही दर्शकों के सामने होगी।

बच्चन पांडे और आमिर की फिल्म के क्लैश पर 
अक्षय का साफ तर्क है कि हमारे साल में 52 शुक्रवार आते हैं। हिंदी फिल्में लगभग 200 से ज्यादा बनती हैं। 40 हॉलिवुड रिलीज होते हैं। हमें तो खुश होना चाहिए कि दो बड़ी फिल्में एक ही हफ्ते आ रही है। स्वतंत्रता दिवस पर भी हमारी दो फिल्में आ रही हैं। तो बड़ी रिलीज एक साथ होगी ही। इस बात का हउआ नहीं बनना चाहिए।
 
सूर्यवंशी और बच्चन पांडे के लिए किया ये काम
अक्षय कुमार ने बताया है कि वह इन दिनों सूर्यवंशी की शूटिंग कर रहे हैं और अपनी आनेवाली फिल्म बच्चन पांडे के लिए उन्होंने काफी वजन कम कर लिया है। वह कहते हैं कि  मैंने लगभग छह किलो कम किया है। और बेहद नेचुरल तरीके से मैंने वजन कम किया है। मैंने बिना डायट किये वजन कम किया है। मैं नेचुरल ही करता हूं। मैं वर्कआउट का समय बढ़ा देता हूं। मैं अपनी डायट के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं करता हूं।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK