Now Playing :

अपनी जिंदगी हमेशा अपने टर्म्स पर ही जीती रही हूं - प्रियंका चोपड़ा जोनास | बॉलीवुड सेलिब्रिटी इंटरव्यूज

अपनी जिंदगी हमेशा अपने टर्म्स पर ही जीती रही हूं - प्रियंका चोपड़ा जोनास

By - अनुप्रिया वर्मा

OCTOBER 07,2019

प्रियंका चोपड़ा, प्रियंका चोपड़ा जोनास
प्रियंका चोपड़ा इन दिनों मुंबई आई हैं, अपनी फिल्म द स्काई इज पिंक के प्रमोशन के लिए। तो पेश हैं इस दौरान प्रियंका चोपड़ा के साथ हुई बातचीत के कुछ मुख्य अंश -

शादी के बाद कितना बदलाव आया है जिंदगी में -
अब मैं पहले से शांत हो गई हूं। पहले मैं ज्यादा शोर करती थी और हर बात हर बात पर  रियेक्त  करती थी। लेकिन अब निक ने मुझे शांत कर दिया है। बस जिंदगी में बहुत ही शांति से चलते हैं और शांत रहकर ही सारे काम पूरे करना चाहते हैं तू मेरी जिंदगी में यह बदलाव तो जरूर आया है क्या मेरी जिंदगी में बहुत शांति हो गई है। मैं किसी भी बात को लेकर हड़बड़ाहट में नहीं रहती हूं। खुश रहती हूं।

निक को कितना इंडियन बनाया -
प्रियंका कहती हैं कि उन्होंने अपने हस्बैंड निक को इंडियन बनाया नहीं है बल्कि उनमें खुद इस इंडियन कल्चर को लेकर बहुत ही ज्यादा सम्मान है। उन्हें खासतौर से इंडियन में होने वाली मस्ती बहुत पसंद है। उन्होंने हाल ही में कलंक के गाने फर्स्ट क्लास पर जबरदस्त मजे लेकर डांस किया था। और वह यहां के गाने और खाना तो बहुत पसंद करते हैं। निक्कू कुर्ता पहनना बहुत पसंद है मुझे तो कभी-कभी लगता है कि मेरी किसी पंजाबी से शादी हुई है।

प्रियंका क्यों नहीं कर रही थीं हिंदी फिल्में -
प्रियंका का  कहना है कि वह पिछले 3 साल से भारत में कोई फिल्म इसलिए नहीं कर पाई थी, क्योंकि वह क्वांटिको कर रही थी और उसे करने में उन्हें 11 महीने लग जाते थे। और उन्हें अपने फिल्म के लिए सिर्फ एक महीना ही मिलता था और ऐसे में 1 महीने में कोई भी फिल्म शूट नहीं हो सकती है। ऐसे में उन्होंने अच्छी फिल्म की स्क्रिप्ट ढूंढने की कोशिश की। ताकि जिसमें वह अपना वक्त दें वह उनके लिए वर्थ हो। इसलिए जब उन्हें काम करने का मौका मिला तो उन्होंने तुरंत हां कर दी। उन्हें इस बात से फर्क नहीं पड़ता है कि फिल्म बड़ी हो या छोटी। सब्जेक्ट की वजह से उन्होंने हां कहा।

ग्लोबल आइकन -
तिरंगा का मानना है कि उन्हें इस बात की खुशी है कि उन्हें ग्लोबल आइकन माना जाता है । वह कहती हैं कि इसके लिए मैंने बहुत मेहनत की है । बहुत ठोकरें खाई है तब जाकर कि मुझे यह सम्मान मिला है ।और मैंने बहुत मेहनत कि मैं चाहती हूं कि मैं जो मेहनत करती हूं वह लोगों को भी पसंद आए। करियर में मैंने जो सफलता प्राप्त की है वह सिर्फ और सिर्फ मेहनत की बदौलत ही की है तो मैं इसका सारा श्रेय अपनी मेहनत को देना चाहूंगी।

परिवार के करीब रहना -
प्रियंका का कहना है कि वह हमेशा से अपने परिवार के बहुत करीबी रहे हैं और वह हमेशा अपने परिवार के करीब ही रहना चाहती हैं। और यही वजह है कि जब उन्हें कोई ऐसी फिल्मों पर हुई जिसमें मां परिवार को एवं दी जा रही है तो उन्होंने ना नहीं कहा। इसमें अपना योगदान करने की सबसे बड़ी वजह यही थी।

भारत और अमेरिका के बारे में -
प्रियंका कहती हैं कि भारत और अमेरिका में से किसी एक को चुनने की मुझे ज़रूरत नहीं लगती है। दोनों जगह काम करती हूं। दोनों जगह मेरे घर हैं। परिवार भी दोनों जगह है। जब मैं अमेरिका में पढ़ती थी तब शायद अमेरिका से डरती थी। वहां लाफ़कीयों ने बहुत परेशान किया इसलिए छोड़कर भी आयी लेकिन इस बार जब मैं गयी तो मेरे काम को सराहा गया। बहुत प्यार और सम्मान मिला। मुझे मेरे पति वहां मिले हैं। जहां तक भारत की बात है मैं उसे ज़्यादा मिस नहीं करती क्योंकि हर दो महीने मे यहां आती हूं। हाँ, घर का खाना बहुत मिस करती हूं। मुझे बनाना नहीं आता है। इंडियन खाना मिलता है लेकिन वो डब्बे में आता है। फ्रेश गरमा-गरम घर के खाने को मिस करती हूं।

बायोपिक के बारे में -
प्रियंका खुद पर बनने वाली बायोपिक के बारे में कहती हैं कि अपने आप को महत्व नहीं देती हूं। मैं एक लड़की हूँ। जो अपना काम कर रही है। लोग चाहे तो बायोपिक बना सकते हैं। वैसे मैं एक किताब अपनी जर्नी पर लिख रही हूं अनफिनिश्ड, अगले साल 20 साल इस इंडस्ट्री में मुझे हो जाएंगे। अगले साल तक किताब लाने की मेरी योजना है। इंडिया, यूके, यूएस तीनों में ये किताब रिलीज होगी।

हमेशा अपने टर्म्स पर जीती रही हूं -
प्रियंका कहती हैं कि उन्होंने अपनी जिंदगी हमेशा अपने ट्रांसफर जी है भले ही कितने आप सेंड डाउंस देखें क्योंकि उन्हें यह बात उनकी मम्मी ने ही सिखाई है कि हमेशा अपने ट्रांसफर ही जीना चाहिए प्रियंका भी कहती हैं कि आमतौर पर ऐसा होता है कि महिलाएं शादी के बाद अपने आप को महत्व देना छोड़ देती हैं लेकिन मुझे नहीं लगता कि यह सही है और मैंने भी अब बोलना सीख लिया है।

आनेवाले प्रोजेक्ट्स -
स्काई इज द पिंक के बाद हॉलीवुड की फिल्म व्हाइट टाइगर कर रही हूं। हिंदी फिल्में अभी साइन नहीं की है।

निक के साथ किसी सिंगल गाने की तैयारी - 
नहीं वह बहुत टैलेंटेड हैं, उनके सामने मैं गाऊं, मेरी मजाल नहीं बाबा।

रोहिंग्या मुद्दे पर -
प्रियंका कहती हैं कि मैं बच्चों के लिए गयी थी।बच्चे फिर भारत में हो बांग्ला देश में जॉर्डन में हो या कहीं भी बच्चे बच्चे होते हैं। बच्चे दुनिया का भविष्य है। बच्चे देश दुनिया मजहब की सीमा से परे हैं और एक ही दुनिया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK