Now Playing :

मेरे घर से पहले मेरे धोबी के घर टीवी आया था, क्योंकि अब्बा सख्त थे: सैफ अली खान | बॉलीवुड सेलिब्रिटी इंटरव्यूज

मेरे घर से पहले मेरे धोबी के घर टीवी आया था, क्योंकि अब्बा सख्त थे: सैफ अली खान

By - अनुप्रिया वर्मा

OCTOBER 18,2019

सैफ अली खान, लाल कप्तान
सैफ अली खान पिछले लंबे समय से ऐसी फिल्मों का हिस्सा बन रहे हैं, जिसकी कहानियां बहुत ही अलग होती हैं, उनकी आने वाली फिल्म लाल कप्तान को लेकर भी काफी चर्चाएं हैं। पेश हैं उनसे हुई बातचीत के मुख्य अंश -

फिल्म को हां कहने की वजह -
सैफ कहते हैं कि उन्हें रोचक फिल्मों का हिस्सा बनना है। वह लाल कप्तान के बारे में कहते हैं कि काफी अलग और रोचक फिल्म है। यह बदले की कहानी है। नवदीप और आनंद एल राय ने मुझे ये फ़िल्म आफर की। मुझे उसी वक़्त कहानी अपील कर गयी। यह एक पीरियड फिल्म है और जिस दौर पर कहानी सेट है। वो मुझे पसंद है। जब मुग़ल शासन का पतन हुआ और अंग्रेजों की दखल बढ़ी। मेरा किरदार बाउंटी हंटर का है। जो इनाम के लिए भगौड़े और अपराधियों को पकड़ता है।

लुक को लेकर कैसे काम किया -
सैफ कहते हैं कि मेकअप मेरे मेरे लिए आसान नहीं था। इसकी वजह यह थी कि बहुत सारा मेकअप था। बाल भी बहुत सारे और बहुत भारी था। कुछ किलो का था। इतना हैवी विग पहनकर गर्दन को हिलाना आसान नहीं था। फिर कपड़े तलवार वो सब के साथ घोड़े पर बैठना। वो भी चिलचिलाती धूप में बहुत मुश्किल था। हर दिन दो घंटे लुक को लेने में लगते थे फिर सुबह 5 बजे उठो मेकअप 2 घंटे करो फिर 2 घंटे वहां पहुंचने में जाते थे। जहां शूटिंग होती थी। इतने भारी भरकम कपड़ों के साथ रेगिस्तान में शूटिंग करना बहुत थका देने वाला अनुभव था। 7 बजे से 12 बजे तक लगातार शूटिंग होती थी लगता था कि लंच के समय विग को हटा दूँ लेकिन फिर खुद को समझाया अगर मुझे पर्दे पर सहज दिखना है इस लुक में तो मुझे इसकी आदत डालनी होगी। फिल्म के लिए घुड़सवारी और तलवारबाज़ी भी सीखी।

तैमूर की प्रतिक्रिया - 
सैफ बताते हैं कि उनके बेटे तैमूर ने उनका यह लुक देखा था। वह कहते हैं कि फ़िल्म के पैचवर्क की शूटिंग मुम्बई में हुई थी तो वो भी सेट पर आया था।वो डरा नहीं बल्कि मुझे देखकर स्माइल कर रहा था। सारा को भी मेरा लुक पसंद आया उसने कहा कि मैं कूल दिख रहा हूं।

सारा की सफलता से खुश -
अपनी बेटी सारा की सफलता से सैफ बहुत ख़ुश हैं। वह कहते हैं कि
सारा की अब तक की जर्नी को देखकर मुझे उसपर बहुत नाज़ हो रहा है। उसकी सबसे अच्छी बात है कि वो बहुत ही विनम्र हैं। मीडिया के साथ।

रेडियो शो करना चाहूंगा -
हाल ही में सैफ करीना के रेडियो शो का हिस्सा भी बने, इस बारे में वह कहते हैं कि बहुत मज़ा आया। लेकिन मैं चाहता था कि बात थोड़ी और रिलैक्सिंग तरीके से होनी चाहिए।टीवी शोज की तरह हुआ। मुझे मौका मिला तो मैं खुद एक रेडियो शो करना चाहूंगा कुछ रोचक सा।

क्रिकेट में दिलचस्पी -
क्या पिता की तरह क्रिकेट में उनकी दिलचस्पी है। सैफ कहते हैं कि बिल्कुल खेलना अच्छा अच्छा लगता है। लेकिन कमेंट्री नहीं करना चाहूंगा। वह अपने पापा के बारे में बताते हैं कि पापा पहले बहुत स्ट्रिक्ट थे। हमारे घर में जब टीवी नहीं था।मेरे अब्बा बहुत सख्त थे।बहुत कम लोगों को ये बात मालूम होगी कि हमारे घर के धोबी के पास पहले टीवी आया उसके बाद हमारे घर में।

निर्देशन का ख्याल -
सैफ का मानना है कि निर्देशक को सबसे ज़्यादा काम करना पड़ता है। फिल्म के लिए सबसे ज़्यादा समय वही देता है। वो अपने परिवार और दोस्तों को भी समय नहीं दे पाता है जब किसी फिल्म का निर्देशन करता है और पैसे सबसे कम भी उसी को मिलते हैं। 

मजा आ रहा है वेब शोज करने में -
सैफ कहते हैं कि मुझे वेब का माध्यम अच्छा लगता है। काफी क्रिएटिव माहौल होता है। मैं अमेज़न को वेब शो तांडव में दिखूंगा। पॉलटिक्स पर आधारित है।

आपकी आनेवाली फिल्म -
जवानी जानेमन और तानाजी कर रहा हूं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK