Now Playing :

दूसरे बच्चे की नहीं है प्लानिंग, नहीं आने वाली कोई गुड न्यूज - करीना कपूर खान | बॉलीवुड सेलिब्रिटी इंटरव्यूज

दूसरे बच्चे की नहीं है प्लानिंग, नहीं आने वाली कोई गुड न्यूज - करीना कपूर खान

By - अनुप्रिया वर्मा

DECEMBER 26,2019

करीना कपूर खान
करीना कपूर खान अपनी बात बेबाकी से रखती हैं। उनका बेपरवाह अंदाज़ ही उन्हें औरों से खास बनाता है। वह अपने करियर में भी काफी बिंदास रही हैं। उन्हें नंबर वन की कुर्सी की भी कोई लालसा नहीं रहीं। उन्हें वैसी फिल्मों को ना कहने का भी अफ़सोस नहीं रहा, जो बाद में माइलस्टोन फिल्में साबित हुईं। ऐसे में उनकी नयी फिल्म गुड न्यूज आ रही है, जिसे लेकर वह उत्साहित हैं। पेश है बातचीत के मुख्य अंश -

गुड न्यूज के लिए हां कहने की वजह क्या रही?
मुझे कहानी बहुत ही अलग लगी। आईवीएफ के बारे में लोग ज़्यादा जानते नहीं हैं। बात भी नहीं करते हैं। यह सीरियस फ़िल्म भी है। साथ में कॉमेडी और ड्रामा भी है।

फिल्म में प्रेग्नेंट वुमन की भूमिका निभाने में कितनी सहज थीं आप?
प्रेगनेंसी के सीन के लिए मुझे स्विम सूट के ऊपर प्रोस्थेटिक पेट वाला कॉस्ट्यूम पहनना पड़ता था। लंदन की एक कंपनी ने उसे बनाया था।

अक्षय कुमार के साथ आप एक बार फिर से नजर आनेवाली हैं, क्या कहना चाहेंगी?
अक्षय का अभी गोल्डन पीरियड चल रहा है। उन्हें जो सफतला अभी मिल रही है, वो उसको पूरी तरह से डिजर्व करते हैं। हमारा रिश्ता 30 साल पुराना है। मैं उनको तबसे जानती हूं, जब वह करिश्मा के दोस्त हुआ करते थे।

इस फिल्म के दौरान तैमूर ने आपको एक्टिंग करते हुए देखा तो उनका रिएक्शन कैसा था? 
अभी तो वह बहुत ही ज्यादा छोटा है। वो लाल सिंह की शूट में भी मेरे साथ हर जगह आते हैं। लेकिन शूटिंग के वक़्त मेरा ध्यान काम पर होता है। वह मेरे आस-पास नहीं होता।

एक एक्टर से शादी करने से आपको सबसे बड़ी बात क्या लगती है, क्या आपको लगता है कि एक प्रोफेशन में होने के कारण वह आपको अधिक समझते हैं?
जी हां, बिल्कुल सैफ ने कभी मुझसे नहीं पूछा कि मैं कौन-सी फ़िल्म कर रही हूं। मैं भी नहीं बताती। उसको सिर्फ एक ही चीज़ जाननी होती है कि मैं घर कब आ रही हूं। वह मुझे पूरा सपोर्ट करते हैं।

अब जबकि आप मां भी हैं, किस तरह सबकुछ मैनेज करती हैं?
मैं अपने समय को लेकर बहुत पाबन्द हूं। साफ बोल देती हूं शूटिंग भी आठ घंटे से ज़्यादा नहीं करती हूं। मेरी कोशिश होती है कि हफ्ते में 4 दिन ही मेरा शूट हो। मेरी पहली प्राथमिकता तैमूर है इसलिए मैं हफ्ते में सिर्फ 4 दिन ही शूटिंग करती हूं और ज्यादा से ज्यादा कोशिश करती हूं कि तैमूर के साथ वक्त बिता सकूं।

हमने सुना कि आपकी जिंदगी में भी गुड न्यूज आने वाली है? 
नहीं इस खबर में कोई सच्चाई नहीं है। मैं एक से ही खुश हूं। ये सब मंगढ़त बातें हैं। 

हम जानना चाहेंगे कि खुशी आपके लिए क्या है?
मैं छोटी-छोटी चीजों में खुशियां ढूंढती हूं। जब भी तैमूर के साथ होती हूं तो खुशी मिलती है। मैं कभी-कभी घर आकर हलवा खाकर भी खुश हो जाती हूं।

तैमूर को कितना लाड़ प्यार करतीं, क्या कभी डांटती भी हैं?
मैं कोशिश भी नहीं करती कि उसको डांट लगाऊं कभी, क्योंकि मैं जैसे ही उसे डांटती हूं। मेरा दिल बैठ जाता है। मैं सैफ को बोलती हूं तुम सख्त बनों। तुम्हें तो अनुभव होगा। सैफ सोचते हैं कि वो अनुशासित पिता है लेकिन ऐसा है नहीं। 

शुरुआती दौर में आपने चमेली और ओमकारा जैसी फिल्में की हैं? अब क्यों नहीं करतीं?
ऐसा नहीं है मेरे लिए फिल्म का कंटेंट महत्वपूर्ण होता है, फिर चाहे वह किसी भी तरह का सिनेमा क्यों ना हो और मैं हर तरह का सिनेमा करते रहना चाहती हूं। अगर मुझे चमेली और ओमकारा जैसी अच्छी स्क्रिप्ट मिले तो मैं फिर से वैसी फिल्में करना चाहूंगी।

आपकी आने वाली फिल्म तख्त के बारे में बताएं?
तख्त में मेरा किरदार ऐतिहासिक किरदार जहांन आरा का है। जहां आरा का किरदार बहुत अहम था। फ़िल्म अभी शुरू नहीं हुई है लेकिन मैं उसको लेकर बहुत उत्साहित हूं। अप्रैल में फ़िल्म शूटिंग पर जाएगी।

आपके रेडियो शो के बारे में बताइए?
औरतें क्या चाहती हैं। अब तक ऐसा कोई शो नहीं रहा, जो ये बात करें। अलग अलग औरतें मेरे शो पर आयी। सोनाली बेंद्रे से शर्मिला जी तक उन्होंने अपने अनुभव सांझा किए। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK